मंगलवार, 13 नवंबर 2007

अरेन्ज्ड मैरिज


एक तस्वीर हज़ार शब्दों से ज़्यादा बोलती है!
चित्र आभार: डिक्टेटरशिप वाच

6 टिप्‍पणियां:

Pratik ने कहा…

हा हा... बढ़िया तस्वीर है। मुशर्रफ़ की हँसी देखकर वह गाना भी याद आ रहा है - तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो, क्या ग़म है जिसको छुपा रहे हो!!!

Gyandutt Pandey ने कहा…

मियाँ-बीबी-काजी सब राजी हैं!

जोगलिखी संजय पटेल की ने कहा…

लाड़ा-लाड़ी सावधान
क्यों चिंता करे अवाम

Tarun ने कहा…

majedaar photuwa hai, sochne wale ne door ki sochi hai

Farid Khan ने कहा…

कमाल
इससे ज़्यादा कोई क्या लिखेगा या कहेगा

अनूप शुक्ल ने कहा…

जोड़ी सलामत रहे। दूधो नहाये पूतों फ़ले। :)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...