शुक्रवार, 14 दिसंबर 2007

डोन्ट टेल हर टु स्टॉप

फ़ुरसतिया जी मैडोना के बुढ़ापे के डर से हमदर्दी खा के उनसे साथ निभाने का वादा कर रहे हैं। उनके बहाने से हमें मैडोना की प्रति अपनी श्रद्धा की याद हो आई। मैडोना की गिनती भले ही अपने समय की महानतम संगीतज्ञ के रूप में न होती हो.. पर सबसे लोकप्रिय कलाकारों में उनका नाम आएगा ही आएगा। रॉक एंड रोल म्यूज़िक की दुनिया में जहाँ वन सॉन्ग वन्डर टके सेर मिलते हों वहाँ तीन दशक तक अपना दबदबा बनाए रखना कोई अंधा चुक्की नहीं है। वो भी तब्ब जब्ब उनके साथ और बाद में परिदृश्य पर ‘आए, छाए और चले गए’ जैसों की गिनती में माइकेल जैक्सन भी शामिल हों।

मैडोना कोई मामूली औरत नहीं है.. कुछ खास है उनमें। उन्होने अस्सी की दशक में कामुकता को परिभाषित किया और नब्बे के दशक में पुनर्परिभाषित किया। मैडोना ने न सिर्फ़ अपने समय के स्त्री के रूप का न सिर्फ़ प्रतिनिधित्व किया है बल्कि उस का प्रतिमान गढ़ा है.. स्त्री स्वातंत्र्य और अभिव्यक्ति का जीता-जागता स्वरूप हैं वे। उन्होने नए ज़माने की नई औरत का अपने रूप में आविष्कार किया है और फिर-फिर नए रूप में आविष्कार किया है..

अगर पुरानी नज़र से देखा जाय तो उनमें वे सारे तत्व मौजूद है कि उन्हे आधुनिक देवी घोषित किया जा सके.. और होता क्या है देवी होना.. वो हमारे आत्मा में वास करती हैं.. हम उनका नाम जपते हैं.. उनकी मूर्ति लगाते हैं.. उनके नशे में चूर हो कर नाचते हैं..

पुरानी परिभाषाओं से थोड़ा विस्थापन ज़रूर है.. पर आधुनिकता के लिए आप को इतनी ढील देनी होगी.. और अब तो उत्तर आधुनिकता भी चली आई है.. प्लीज़ मेक स्पेस फ़ॉर हर.. एंड वाच हर लवली वीडियो..






Don't tell me to stop
Tell the rain not to drop
Tell the wind not to blow
'Cause you said so, mmm



Tell the sun not to shine
Not to get up this time, no, no
Let it fall by the way
But don't leave me where I lay down

(Chorus)


Tell me love isn't true
It's just something that we do
Tell me everything I'm not but
please don't tell me to stop



Tell the leaves not to turn
But don't ever tell me I'll learn, no, no
Take the black off a crow
But don't tell me I have to go



Tell the bed not to lay
Like the open mouth of a grave, yeah
Not to stare up at me
Like a calf down on its knees

(chorus)


Tell me love isn't true
It's just something that we do
Tell me everything I'm not but
don't ever tell me to stop

(Chorus)


Don't you everTell me love isn't true
It's just something that we do
Don't you ever
Tell me everything I'm not but
don't ever tell me to stop



Don't you ever
please don't, please don't,
please don't tell me to stop
Don't you ever tell me (don't you), ever

Don't ever tell me to stop


Tell the rain not to drop
Tell the bed not to lay
Like the open mouth of a grave, yeah
Not to stare up at me
Like a calf down on its knees



अपने पचासवें बरस में चल रही मैडोना अपने फ़िल्ममेकर पति गाय रिची और तीन बच्चों के साथ लन्डन में रहती हैं।

6 टिप्‍पणियां:

मीनाक्षी ने कहा…

बहुत सही कहा आपने.. गीत सुनवाने का भी बहुत बहुत शुक्रिया... मुझे आप अतीत में ले गए जब 'पापा डोंट प्रीच मी' ज़ुबान से उतरता ही नहीं था... मुझे मैडोना और टीना टर्नर बहुत पसन्द है..
http://www.tina-turner.nl/

एक बार फिर शुक्रिया

अजित वडनेरकर ने कहा…

बहुत सुंदर । वीडियो भी और आपका लिखा भी। नयी व्याख्या के साथ - देवी वाले संदर्भ में। मैडोना में मुझे सस्तापन कभी नज़र नहीं आया ।

ज्ञानदत्त पाण्डेय । GD Pandey ने कहा…

मैडोना अपने फ़िल्ममेकर पति गाय रिची और तीन बच्चों के साथ लन्डन में रहती हैं।
***************************
कौन से नम्बर के पति हैं गाय रिची और उनकी कौन से नम्बर की पत्नी हैं मैडोनाजी?

अभय तिवारी ने कहा…

अरे ज्ञान जी, आप की नैतिकता को चोट लग गई मैडोना के निजी जीवन और तमाम रिश्तों और शादियों के कारण.. ? .. और एक पारदर्शी और ईमानदार जीवन जीती लड़की से आप को कष्ट है.. कि आप सीधे उसके रिश्तों की संख्या से उस की इज़्ज़त पर सवाल उठाना चाहते हैं?
पूँजीवादी पश्चिमी संस्कृति ने सम्बन्धों में जीवन भर की निष्ठा को एक सिरे से नकार दिया है.. मगर अपने भावनात्मक जगत के साथ ईमानदारी और निष्ठा को पैदा किया है.. जिसकी वज़ह से वे जब तक सम्बन्ध व विवाह में रहते हैं.. निष्ठा को यथासम्भव निभाने का प्रयास करते हैं.. भावनाओं की क्षण भंगुरता के कारण उपजी इस स्थिति के चलते तलाक़ ज़्यादा होते हैं.. और परिवार मनुष्य के जीवन में अपनी भूमिका निभाने में असफल हो रहे हैं.. मैडोना भी उसी संस्कृति की पैदाइश हैं..
मगर उनका पूरा आकलन आप इस बिंदु से करना चाहते हैं कि उन्होने कितनी शादियाँ की.. तो यह पूर्वग्रह ग्रस्त सोच का प्रदर्शन है... ज्ञान जी.. आप को भले ही अच्छा न लगे.. पर यह पूँजीवादी संस्कृति हमारे समाज पर भी छाती जा रही है.. आप उस से प्रसन्न भी रहते हैं.. आदमी चाहता ज़रूर है कि मीठा-मीठा गप्प हो और कड़वा-कड़वा थू मगर होता नहीं है.. और हमारे यहाँ भी तलाक़ के केसेस बढ़ने वाले हैं.. आप तो यथास्थितिवादी हैं.. विरोध की संस्कृति में आप का यक़ीन नहीं.. ज़रा इन के लिए भी अपने दिल में जगह बनाइये..

अनूप शुक्ल ने कहा…

सुन्दर। शानदार। देखो हमारे आवाहन पर मैडोनाजी के फ़ैन सामने आये। ये वाली वीडियो वाकई लवली लगा।
शुक्रिया इसे दिखवाने के लिये। अच्छा लिखा।

अरुण ने कहा…

भाइ अभयानन्द जी का प्रवचन बहुत दिनो बाद पढने को मिला (टिप्पणि मे) इस पर पु्री पोस्ट लिखे...ध्यान दे हमे आप और ज्ञान भाईसा के बीच के मामले से कोई लेना देना नही है..(लिख दिया ताकी सनद रहे)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...